आत्महत्या करने के लिए बिबस करने के मामले में 15 दिन बाद भी दर्ज नही हुई एफआईआर

फर्रुखाबाद-देश मे भाजपा सरकार चाहे केंद्र की हो या उत्तर प्रदेश दोनों बेरोजगार प्रतिभा शाली युवको को प्रधानमंत्री स्व रोजगार योजना के अंतर्गत लोन देकर उनको आत्म निर्भर बनाने का काम कर रही है।वही बैंक के अधिकारी व कर्मचारियों की बदौलत युवा आत्म हत्या कर रहे है।पिछले 15 दिन पहले भी सदर कोतवाली क्षेत्र के गांव पपियापुर निवासी युवक ने बैंक के लिए पांच लाख का लोन स्वीकृत होने के बाद कर्मचारियों की बजह से आत्म हत्या कर ली थी।

जिसके चलते परिजनों ने बैंक अधिकारियों के खिलाफ थाने में तहरीर दी थी।15 दिन बीत जाने के बाद भी बाद भी मुकदमा दर्ज नही किया गया। फिर परिजन एडीएम से शिकायत करने पहुंचे तो उन्होंने 2 तारीख को मुकदमा दर्ज करने के आदेश सदर कोतवाल को लिखित रूप में दिए लेकिन बैंक अधिकारियों से सुविधा शुल्क लेने की बजह से मुकदमा दर्ज नही किया गया था। परेशान होकर मृतक युवक मनीष शर्मा की मां और बड़ा भाई सनी शर्मा जिलाधिकारी कार्यालय के गेट पर धरना देने शुरू कर दिया।

उसके बाद जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह के आदेश के बाद आरोपी बैंक अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।जिस पर जिलाधिकारी ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद सिटी मजिस्ट्रेट उसकी जांच कर रही थी उसमें बैंक मैनेजर और फील्ड आफिसर रिकार्ड के देखने के बाद दोषी पाए गए है।मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दे दिए गए थे।उसकी बाद जांच पूर्ण होने के बाद दोनों कर्मचारियों पर विभागीय कार्यवाही की जायेगी।

Share
LATEST NEWS