जिलाधिकारी ने गौ संरक्षण केन्द्र सितवनपुर पिथू और नवोदय विद्यालय का किया औचक निरीक्षण

जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने गौ संरक्षण केन्द्र सितवनपुर पिथू और नवोदय विद्यालय मोहम्मदाबाद का औचक निरीक्षण किया। जहां उन्होंने व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं।सितवनपुर पिथू स्थित गौसंरक्षण केन्द्र में निरीक्षण के समय डीएम को 342 गौवंश मिले। वहां तैनात कर्मचारियों ने बताया कि सांड़ ने एक गौवंश को घायल कर दिया है जिसका उपचार जारी है। गौशाला में 15 गौवंश सहभागिता में पशु पालकों को दिये गये हैं। यहां ठंड से बचाने के लिए जो बोेरे लगाये गये थे उन्हें गौवंशों ने फाड़ दिया तो डीएम ने यहां पुनः बोरे लगाने और सिलाई मशीन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

कर्मचारियों ने बताया कि यहां चारा-दाना की कमी के साथ चारा मशीन नहीं है तो डीएम ने मशीन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। इसके बाद जिलाधिकारी ने जवाहर नवोदय विद्यालय मोहम्मदाबाद पहुंचे। वहां उन्होंने विद्यालय के छात्रावास का निरीक्षण किया। वहां देखा कि छात्रावास में छात्र-छात्राओं के लिए बैठ कर पढ़ने हेतु कुर्सी-मेज की व्यवस्था नहीं है। डीएम ने विद्यालय के प्रधानाचार्य को निर्देश दिए कि वह तत्काल छात्रावास में कुर्सी-मेज की व्यवस्था करायें। निर्देश दिए कि छात्रावास में सभी दरवाजों पर सीसी टीवी कैमरे लगाये जायें और इनकी माॅनीटरिंग के लिए सीसी टीवी कंट्रोल रूम स्थापित किया जाये।

डीएम ने भोजनालय, डायनिंग हाल का निरीक्षण कर भोजन की गुणवत्ता की हकीकत को परखा। जिलाधिकारी ने कहा कि भोजन बनाने में उपयोग किये जा रहे खाद्य पदार्थों की खाद्य विभाग से समय-समय पर जांच करायी जाये। इस समय प्रयोग किये जा रहे फार्चून तेल की जांच कराने के भी निर्देश दिए। छात्रावास परिसर में सीसी रोड का निर्माण कराया जा रहा है। डीएम को इस सीसी रोड की गुणवत्ता खराब मिली तो उन्होंने इसकी टीएसी जांच कराने के निर्देश दिए। प्रधानाचार्य को निर्देश दिए कि विद्यालय परिसर में 5 एकड़ भूमि चिन्हित कर ठेकेदारी पर हरी सब्जी करायी जायें जिससे कि छात्र-छात्राओं को शुद्ध भोजन व सब्जी मिल सके। यहां रोटी बनाने वाली मशीन की कमी थी।

शौचालयों में पानी लीकेज की समस्या को डीएम को मिली जिस पर उन्होंने तत्काल मरम्मत कराकर इस समस्या को समाप्त करने की बात कही। शौचालयों में फिनाइल का उपयोग भी नहीं किया जा रहा है तो डीएम ने फिनाइल से सफाई करवाने के भी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने छात्र-छात्राओं से वार्ता कर शिक्षा की गुणवत्ता और भोजन की गुणवत्ता को परखा तो छात्र-छात्राओं ने बताया कि विद्यालय में मीनू के अनुसार भोजन दिया जा रहा है और शिक्षक अच्छी शिक्षा भी दे रहे हैं।

Share
LATEST NEWS