दर्ज नहीं हो रही धोखाधड़ी की रिपोर्ट-video

फर्रुखाबाद में निवेशकों के सात करोड़ रुपए लेकर चंपत होने वाली एक इनवेस्टमेंट कंपनी के खिलाफ अभी तक एफआईआर नहीं हुई है। इसको लेकर निवेशकों ने एसपी को प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है। एसपी ने फर्रुखाबाद के प्रभारी निरीक्षक को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। बजरिया अलीगंज फतेहगढ़ की मंजू राठौर समेत कई निवेशकों ने एसपी को प्रार्थना पत्र दिया। निवेशकों का कहना है कि आवास विकास में एक हॉस्पिटल के निकट एक इनवेस्टमेंट कंपनी चल रही थी जिसमें बरेली के एक व्यक्ति के कहने पर वे लोग एजेंट बने थे।

फर्जी दस्तावेज दिखाकर भरोसा दिलाया गया था कि कंपनी रिजर्व बैंक से पंजीकृत है। लगभग सात करोड़ रुपए उन लोगों ने जमा किया था।निवेशकों से कहा गया था कि समय पर मूलधन मय ब्याज सहित वापस किया जाएगा। समय पूरा होने के बाद भी टाल मटोल किया जा रहा है। निवेशकों के पैसे वापस किए जाने को लेकर जब सीएमडी और उनकी पत्नी से कहा गया तो वे लोग रातोरात ऑफिस बंद कर फरार हो गए। इस मामले में सीएमडी और एमडी के अलावा प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराए जाने की मांग की गई है।


 शेषलता मिश्रा, अर्चना पांडेय, सुनीता, नीलम कुशवाहा, मीरा, सतीश, किरन, साधना कटियार, बृजवाला यादव, तृप्ति सिंह, शैलेंद्र सिंह, शिल्पी सिंह, विनय कुमार, अनीता, कन्हैयालाल, सरोजनी, अखिलेश, किरन राठौर आदि ने इस मामले में एसपी से कार्रवाई की मांग की है।

Leave a Reply

Share
LATEST NEWS
पांच वर्ष पहले लापता फौजी का पुलिस नहीं लगा सकी सुराग सरकार बनने पर सीएए को सूबे से हटायेंगे: अखिलेश डंके की चोट पर आमने सामने बहस कर लो कि आज समाजबादी लैपटॉप चल रहा है कि बिना पानी का शौचालय -अखिलेश यादव दुश्मन बना जमाना तो प्रेमी युगल ने खाया जहर, गंभीर डंके की चोट पर कहता हूं जिसे विरोध करना है करेे, सीएए वापस नहीं होगा: अमित शाह सीएए विरोधी रैली में घंटाघर पहुंची अखिलेश यादव की बेटी टीना हाते में 80 गोवंश बंद कर ग्रामीण पहुंचे क्षेत्र पंचायत किशोरी से दुष्कर्म करने में अभियुक्त को बीस साल की सजा गरुण वाहिनी टीम ने वाहन चेकिंग अभियान चलाकर बाइकों को पकड़कर थाना पुलिस को सौंपा मासूम के साथ कुकर्म करने वाले को पुलिस ने दबोचा