प्राथमिक शिक्षकों ने धरना-प्रदर्शन कर गिनाई समस्यायें

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला संयोजक विजय बहादुर सिंह यादव के नेतृत्व में शिक्षकों ने बीएसए कार्यालय प्रागंण में धरना-प्रदर्शन कर अपनी समस्यायें गिनाईं हैं।
धरना-प्रदर्शन में शिक्षकों ने कहा कि बीती 1 अप्रैल 2005 से पहले लागू पुरानी पेंशन व्यवस्था को बहाल किया जाये। बेसिक शिक्षा परिषद प्राथमिक विद्यालयों में न्यूनतम पांच सहायक अध्यापक और 1 प्रधानाध्यापक इसी तरह प्रत्येक उच्च प्राथमिक विद्यालय में 3 सहायक अध्यापक और 1 प्रधानाध्यापक को नियुक्त किया जाये।

विद्यालय में फर्नीचर, विद्युत पंखे, चाहरदीवारी, शु( पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराई जाये। प्रत्येक परिषदीय विद्यालय में लिपिक और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की नियुक्ति की जाये। बेसिक शिक्षा विभाग के अध्यापक भी अन्य विभागों की तरह सरकार के अधीन हैं और अन्य विभागों की तरह ही सरकार के आदेश शिक्षकों पर लागू होते हैं। सरकार के किसी भी विभाग में प्रेरणा एप प्रणाली के माध्यम से कर्मचारियों और अधिकारियों की उपस्थिति की व्यवस्था नहीं है जबकि यह प्रणाली परिषदीय शिक्षकों पर लागू की जा रही है।

शिक्षकों ने इसे सरासर गलत बताया है। कहा कि प्रेरण एप प्रणाली को परिषदीय विद्यालयों में लागू करने पर तत्काल रोक लगाई जाये। इस मौैके पर जिला सह संयोजक राज किशोर शुक्ला, राजेश कुमार यादव, लईक मोहम्मद खां, जितेन्द्र सिंह यादव, अवनीश कटियार, अवनीश चैहान, अमित मिश्रा, सुशील माथर, राकेश कुमार आदि आदि  शिक्षक मौजूद रहे।   

Share
LATEST NEWS
करथिया एनकाउंटर की सीबीआई जाँच करायी जाए दहाड़े किया जा रहा पांचाल घाट स्थित भागीरथी में खुलेआम मछलियों का शिकार कांग्रेसियों ने विभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन नेता की बीवी व गर्लफ्रेंड में जमकर मारपीट, कपड़े फाड़े, एक दूसरे पर दर्ज कराया केस लापता हुई विवाहिता की गला घोंटकर की गई हत्या अन्ना गोवंशों के आतंक के आगे अन्नदाता बेबस,अन्ना गोवंश से फसल तबाह जानलेवा हमले में प्रधान के पति व देवर सहित तीन पर मुकदमा भूलकर भी सोने से पहले न करें ग्रीन टी का सेवन, होगा ये नुकसान कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज में पारंपरिक दवाइयां कर रही हैं कमाल सीतापुर में बोरवेल में युवक फंसा, निकालने का प्रयास जारी