डीएम ने गरीबों की मदद के लिए पुरस्कार के 50 हजार वापस किए

मोहम्मदाबाद क्षेत्र के गांव करथिया में बंधक बनाए गए बच्चों को सकुशल मुक्त कराने के लिए मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को पुरस्कृत किया था। जिलाधिकारी ने पुरस्कार के मिले 50 हजार रुपये मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष में वापस कर दिए। करथिया के बंधक बनाए गए बच्चों को सकुशल मुक्त कराकर शातिर सुभाष बाथम को मौत के घाट उतार दिया गया था। इस पर मुख्यमंत्री ने बच्चों को सम्मानित करने के साथ अधिकारियों को 10 लाख रुपये का पुरस्कार दिया था। 

इसमें जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह को भी पुरस्कार के 50 हजार रुपये मिले थे। जिलाधिकारी ने बताया कि उनकी इच्छा है कि यह धनराशि गरीब व पीड़ित लोगों की मदद में लगाई जाए। 

मुख्यमंत्री द्वारा उनके लिए पुरस्कार की घोषणा किया जाना ही महत्वपूर्ण है। इससे उन्होंने पुरस्कार धनराशि को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष में वापस कर दी है। 

Leave a Reply

Share
LATEST NEWS
करथिया एनकाउंटर की सीबीआई जाँच करायी जाए दहाड़े किया जा रहा पांचाल घाट स्थित भागीरथी में खुलेआम मछलियों का शिकार कांग्रेसियों ने विभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन नेता की बीवी व गर्लफ्रेंड में जमकर मारपीट, कपड़े फाड़े, एक दूसरे पर दर्ज कराया केस लापता हुई विवाहिता की गला घोंटकर की गई हत्या अन्ना गोवंशों के आतंक के आगे अन्नदाता बेबस,अन्ना गोवंश से फसल तबाह जानलेवा हमले में प्रधान के पति व देवर सहित तीन पर मुकदमा भूलकर भी सोने से पहले न करें ग्रीन टी का सेवन, होगा ये नुकसान कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज में पारंपरिक दवाइयां कर रही हैं कमाल सीतापुर में बोरवेल में युवक फंसा, निकालने का प्रयास जारी