दिल्ली सरकार ने कोरोना को महामारी घोषित किया, स्कूल के बाद 31 मार्च तक सभी सिनेमाघर बंद

दिल्ली में कोरोना को महामारी घोषित कर दिया गया है। सरकार ने दिल्ली के सभी सिनेमा हॉल्स और ऐसे स्कूल-कॉलेज (जिनकी परीक्षाएं नहीं चल रही हैं), उन्हें 31 मार्च तक बंद करने की घोषणा की। उपराज्यपाल के साथ मीटिंग के बाद मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की है।इस तरह दिल्ली हरियाणा के बाद कोरोना को महामारी घोषित करने वाला दूसरा राज्य बन गया है। भारत में अब तक कुल 73 कोरोना के मरीज सामने आ चुके हैं और केरल में इसके सबसे ज्यादा मरीज हैं।

दिल्ली सरकार ने सभी स्कूलों, कालेजों, सिनेमा हालों और अन्य पब्लिक इकट्ठा होने वाली बड़ी जगहों को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया है। इसकी घोषणा करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि कोरोना वायरस से घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है।

दिल्ली में इससे निबटने के लिए पर्याप्त इंतजाम मौजूद हैं। इसके पहले हरियाणा जैसे राज्यों में भी इसे महामारी घोषित कर दिया गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बुधवार को ही कोरोना वायरस को एक वैश्विक महामारी घोषित कर दिया था।

दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस से निबटने के लिए पर्याप्त इंतजाम होने का दावा किया है। एम्स और एक अन्य अस्पताल में कोरोना के जांच की व्यवस्था की गई है जबकि मरीजों को आइसोलेशन में रखने और उकी देखभाल के लिए लगभग 25 जगहों पर व्यवस्था कर दी गई है। सरकार ने कहा है कि अगर आवश्यकता पड़ती है तो इसके लिए और भी इंतजाम किए जाएंगे।

डब्ल्यूएचओ पहले ही कोरोना को विश्वव्यापी महामारी घोषित कर चुका है

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डबल्यूएचओ) ने कोरोना को विश्वव्यापी महामारी घोषित कर दिया। डब्ल्यूएचओ के प्रमुख ट्रेडोस एडनोम घेब्रेयेसिस ने कहा, कोविड-19 को पैनडेमिक (विश्वव्यापी महामारी) माना जा सकता है। हमने पहले कभी नहीं देखा कि एक कोरोना वायरस से महामारी फैल सकती है। 121 देशों में अब तक 1,22,331 मामले सामने आ चुके हैं, वहीं 4,389 मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा प्रकोप चीन, इटली और ईरान में है। 

इस बीच, देश में बीते 24 घंटों में कोरोना के 12 और मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, केरल में आठ, दिल्ली और राजस्थान में एक-एक नया पॉजिटिव केस मिला है। वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई में ने दो नए केस के साथ राज्य में कुल 10 मामलों की पुष्टि की है।

इसके बाद संक्रमित मरीजों की संख्या 68 हो गई हैं। सरकार ने 15 अप्रैल तक सभी देशों के टूरिस्ट वीजा निलंबित कर दिए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कोरोना के खतरे को लेकर मंत्रियों के समूह के साथ बैठक में यह फैसला किया। इस दौरान सभी मंत्रालयों के अलावा राज्यों की मौजूदा स्थिति को लेकर समीक्षा की गई।

बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, वीजा अस्थायी रूप से निलंबित कर दिए गए हैं। साथ यात्रियों को जारी किए गए ई-वीजा पर भी रोक लगा दी गई है। सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी कर चीन, दक्षिण कोरिया, हांगकांग, सिंगापुर, ईरान, मलयेशिया, थाईलैंड, इटली, जापान, फ्रांस, जर्मनी व स्पेन की यात्रा करने वालों को घर में 14 दिन तक पृथक रहने को कहा गया है।

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजय भास्कर ने राज्य में पहले पॉजिटिव मरीज के स्वस्थ होने की पुष्टि की है। यह व्यक्ति ओमान से आया था। इलाज के बाद की गई जांच में रिपोर्ट नेगेटिव आई। वहीं केरल में तीन मरीज ठीक हो चुके हैं। हालांकि कर्नाटक के कलबुर्गी में एक संदिग्ध मरीज की मौत हो गई, जिसकी जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई है।

अंतरराष्ट्रीय क्रूज के प्रवेश पर 31 तक रोक

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार ने एक फरवरी, 2020 के बाद प्रभावित देशों की यात्रा करने वाले अंतरराष्ट्रीय क्रूज, चालक दल के सदस्यों व यात्रियों के प्रवेश पर 31 मार्च तक रोक लगा दी है। जहाजरानी मंत्रालय ने बुधवार को कहा, सिर्फ उन्हीं अंतरराष्ट्रीय क्रूज को भारतीय बंदरगाहों पर आने की अनुमति दी जाएगी, जिन्होंने एक जनवरी, 2020 तक आने की सूचना दी थी व जिन क्रूज पर चालक दल व यात्रियों के लिए थर्मल स्क्रीनिंग की सुविधा होगी।

डेल व माइंडट्री के कर्मचारी भी पॉजिटिव
इस बीच, आईटी कंपनी डेल व माइंडट्री के दो कर्मचारियों भी कोरोना से संक्रमित मिले हैं। दोनों कंपनियों ने अलग-अलग बयानों में कहा कि डेल कर्मचारी अमेरिका से लौटे थे, इस दौरान वह टेक्सास की यात्रा करके भी आया था। वहीं, माइंडट्री के कर्मचारी भी विदेश की यात्रा करके आया था।

इटली से 83 यात्रियों को मानेसर ले जाया गया
इस बीच, इटली से एयर इंडिया की फ्लाइट संख्या एआई 138 से आए 83 यात्रियों को मानेसर स्थित सेना के केंद्र ले जाया गया है। यह विमान बिना स्क्रीनिंग मिलान से दिल्ली पहुंचा था। विमान में 74 भारतीय और 9 विदेशी सवार थे। इनमें 16 बच्चे और एक नवजात भी है। विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम इन सभी की जांच करेगी। जिन यात्रियों में कोरोना के लक्षण पाए जाएंगे, उन्हें आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया जाएगा।

प्रभावित देशों से निकाले 900 भारतीय
स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 948 यात्रियों को संक्रमित देशों से निकाला है। केंद्र सरकार ने अपने नागरिकों के अलावा दूसरे देशों के नागरिकों को भी निकाला है। इनमें 900 भारतीय नागरिक शामिल हैं। मंत्रालय ने कोरोना के संक्रमण के चलते लोगों के लिए विदेश की गैर जरूरी यात्रा न करने की सलाह भी दी है।

Share
LATEST NEWS