प्रवासी मजदूरों मकान मालिकों ने घर निकाला,अब बापस नही जायेगे बाहर काम करने-video

पापी पेट का सवाल क्या-क्या नहीं करता। पेट की ही खातिर जन्मभूमि छोड़ दी थी। कोरोना महामारी के पैर पसारने के बाद लॉकडाउन घोषित होते ही काम-धंधा बंद हो गया तो पैदल ही जन्मभूमि की ओर चल दिए। जिले से हजारो मजदूर पैदल हाइवे पर पैदल चलते दिखाई दे रहे है।बच्चे अपने अपने माता पिता से खाना मांगते हैं।वही लाकडाउन के चलते फैक्ट्रियों में काम बंद हो गया।वही मकान मालिक उनसे किराए की डिमांड की जब मजदूरों ने समय से मकान मालिकों को किराया नही दिया तो उनको अपने मकानों से बाहर निकाल दिया।जिस कारण अपनी छोटी सी गृहस्थी को साथ लेकर अपने अपने जन्मभूमि की तरफ पलायन शुरू कर दिया है।रास्ते के लंबे सफर में कई साथी छूट जाते है।उनकी भी उनको चिंता सता रही है।कि वह गांव के जाकर अपने साथी के बारे में क्या बताएंगे।

देश व प्रदेश की सरकारों ने जो घोषणाएं की थी सभी प्रवासियों मजदूरों को राशन देने के साथ कोई भी मकान मालिक किराया नही लेगा लेकिन उसका उल्टा हो रहा है।जब काम बंद के चलते मकान मालिक मकान खाली करने को कहता है।तो मजदूरों ने बताया स्थानीय पुलिस को शिकायत दर्ज कराने पहुंचे तो उनकी परेशानी को खत्म करने की जगह उनको ट्रकों में बैठाकर उनके ग्रह जनपद भेज दिया जा रहा है।वही गाड़ी मालिक भी उनको रास्ते मे छोड़कर चले जाते है।

जिस कारण वह अपने छोटे छोटे बच्चों के साथ तेज धूप में ही अपने घरों के लिए विना थके हुए चले जा रहे है।यह मजदूर दिल्ली,हरियाणा,गजियावाद,गुजरात,महाराष्ट्र से लेकर सभी महानगरों से आ रहे है।लेकिन प्रसाशन ने जो प्रवासी मजदूरों के लिए खाने का इंतजाम किया था वह भी नही दिखाई दे रहा है।साथ यदि किसी भी जिले में रुकना चाहे तो उनको रुकने नही दिया जाता है।वर्तमान में प्रवासी मजदूरों की हालत फुटवाल की तरह दिखाई दे रही है।हर कोई किक मारने में लगा हुआ दिखाई दे रहा है।

वही गैर प्रांतों से आने वाले मजदूरों को कोरेंटाइन सेंटर रोकने के निर्देश है। यहां 14 दिनों तक लोगों को रोककर खाने-पीने की सुविधा उपलब्ध कराना है। जबकि फर्रुखाबाद के कई कोरेंटाइन सेंटर में मजदूरों को किसी भी प्रकार की सुविधा नहीं मिल पा रही है,और न ही खाना मिल प् रहा है जिससे लोगों में काफी नाराजगी है। कोरेंटाइन सेंटर के इंजार्ज ने मजदूरों को अपने घरो में जाने को कह दिया है

Share
LATEST NEWS
दवा से कम नहीं है पालक, जानिए गर्मी में इसके सेवन से होने वाले 10 फायदे 371 नए मामलों के साथ कोरोना मरीजों की संख्या 9 हजार के पार, अबतक 245 की मौत दो शराब तस्करों सहित पुलिस ने बरामद किया अवैध शराब का जखीरा अज्ञात वाहन की टक्कर लगने से साइकिल सवार की मौत भूसा भरा ट्रक इटावा बरेली हाइवे पर पलटा, मुख्य मार्ग हुआ बन्द। उत्तर प्रदेश में घटा कोरोना का संक्रमण, 24 घंटे में 141 नए केस, एक की मौत साढ़े 13 हजार मोबाइल में चल रहा एक ही आईएमईआई नंबर, चीन की कंपनी पर मेरठ में मुकदमा जिले में मिले 4 कोरोना पॉजटिव, संख्या हुई 43 जिलाधिकारी ने कोरोना संक्रमित भर्ती मरीजों की व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के दिये निर्देश बदायूं में भाभी को गोली मारने के बाद देवर ने किया सुसाइड, दोनों की मौत
फर्रुखाबाद में टोटल मरीज 43 डिस्चार्ज कोरोना मरीज 21 कोरोना ऐक्टिव संख्या - 22 कोरोना मरीज की मौत 00