वापस ऑफिस जानें की कर रहे हैं तैयारी, तो ये 5 बातें गलती से भी न भूलें

कोरोना वायरस एक बेहद पेचीदा बीमारी है। ये कई तरह से फैल सकती है, इसलिए इससे बचने के लिए बेहद सतर्क रहने और सावधानी बरतनी की ज़रूरत है।

ये बीमारी भले ही एक इंसान से दूसरे में आसानी से फैल रही हो, लेकिन कई ऐसे तरीके हैं जिनकी मदद से आप कोरोना वायरस से बचाव कर सकते हैं। दुनिया के कई देशों के साथ भारत में भी लॉकडाउन धीरे-धीरे खुल रहा है और लोग अपने काम पर लौटने की तैयारी कर रहे हैं। इसी के साथ आज हम बता रहे हैं 4 बातों के बारे में जिसका ख्याल रखना बेहद ज़रूरी है।

1. सोशल डिस्टेंसिंग

कोरोना वायरस आमतौर पर, संक्रमित व्यक्ति के छींकने या खांसने से निकलने वाली बूंदों के ज़रिए फैलता है। यही वजह है कि सोशल डिस्टेंसिंग इस वक्त बेहद ज़रूरी है। लिफ्ट लेने से लेकर मीटिंग्ज़ तक, ऑफिस की इन सभी आम सी चीज़ों में बदलाव देखने को मिलेंगे।

2. स्वच्छता

अपने घरों, आसपास और खुद की साफ-सफाई को लेकर कई तरह के दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। जिसमें सबसे अहम में हर थोड़ी देर में हाथों को कम से कम 20 सेकेंड के लिए धोना। हाथ धोते वक्त अपनी उंगलियों, हथेली, कलाई और नाखूनों को अच्छी तरह रगड़ना है। एक रिसर्च के मुताबिक, दिन में 5 बार हाथ धोने से सांस और फेफड़ों से जुड़े संक्रमण में 45 प्रतिशत गिरावट आती है। 

3. तापमान की जांच

भारत में कई जगह किसी इमारत में घुसने या बाहर निकलने पर सभी लोगों के शरीर के तापमान की जांच की जा रही है। अस्पतालों में भी गेट पर ही कर्मियों, मरीज़ों या मिलने आए लोगों की जांच कर ली जाती है। इसके अलावा कई दफ्तरों में कर्मियों को एक फॉर्म के ज़रिए ये बताना होता है कि कोरोना वायरस के लक्षण उनमें नहीं दिख रहे हैं।

4. मास्क

एसिम्पटोमैटिक प्रसारण सबसे ज़्यादा हो रहा है, जिसका मतलब ये है कि सोशल डिस्टेंसिंग, स्वच्छता और तापमान की जांच काफी नहीं है। मास्क पहनने से इंफेक्शन फैलने का ख़तरा काफी कम हो जाता है। मास्क पहनने से छींकने या खांसने पर संक्रमित बूंदें आसपास खड़े लोगों को संक्रमित नहीं करतीं। एक रिसर्च में पाया गया है कि सर्जिकल मास्क को अगर अच्छी तरह पहना जाए, तो वह कोरोना वायरस के 99% बूंदों को रोक सकता है, वहीं, घर पर बनाया मास्क भी काफी कारगर साबित हो सकता है। 

अगर आप जल्द ही ऑफिस जाने वाले हैं, तो इन बातों का ख्याल ज़रूर रखें:

– अपने साथ ग्लास, बोतल, कप और चम्मच रख लें। कैंटीन या ऑफिस किचन से कोई भी सामान का इस्तेमाल न करें। 

– अपने फोन का चार्जर या पॉवर बैंक साथ लेकर चलें, ताकि आपको किसी और का इस्तेमाल न करना पड़े।

– सैनिटाइज़र की बॉटल और वाइप्स साथ रखें। काम शुरू करने से पहले डेस्क और लैपटॉप को सैनिटाइज़ कर लें।

– लिफ्ट के बटन, रलिंग, डोरनॉब्ज़ और ऐसी सतह जिन पर आमतौर पर हाथ जाता है, उन्हें छूने से बचें। और अगर आपका हाथ चला जाता है तो फौरन हाथों को धोएं।

– जब आप घर वापस आएं, तो अपनी सभी चीज़ों को सैनिटाइज़ या धोएं। फौरन नहाएं।

Leave a Reply

Share
LATEST NEWS
दवा से कम नहीं है पालक, जानिए गर्मी में इसके सेवन से होने वाले 10 फायदे 371 नए मामलों के साथ कोरोना मरीजों की संख्या 9 हजार के पार, अबतक 245 की मौत दो शराब तस्करों सहित पुलिस ने बरामद किया अवैध शराब का जखीरा अज्ञात वाहन की टक्कर लगने से साइकिल सवार की मौत भूसा भरा ट्रक इटावा बरेली हाइवे पर पलटा, मुख्य मार्ग हुआ बन्द। उत्तर प्रदेश में घटा कोरोना का संक्रमण, 24 घंटे में 141 नए केस, एक की मौत साढ़े 13 हजार मोबाइल में चल रहा एक ही आईएमईआई नंबर, चीन की कंपनी पर मेरठ में मुकदमा जिले में मिले 4 कोरोना पॉजटिव, संख्या हुई 43 जिलाधिकारी ने कोरोना संक्रमित भर्ती मरीजों की व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के दिये निर्देश बदायूं में भाभी को गोली मारने के बाद देवर ने किया सुसाइड, दोनों की मौत
फर्रुखाबाद में टोटल मरीज 43 डिस्चार्ज कोरोना मरीज 21 कोरोना ऐक्टिव संख्या - 22 कोरोना मरीज की मौत 00