आइये जाने कैसे इंसान के दिमाग पर अटैक कर रहा कोरोना

तेज बुखार, सूखी खांसी, गले में सूजन, थकावट तथा सांस लेने में परेशानी होना COVID-19 के प्रमुख लक्षण हैं। कोरोना के संक्रमितों में हाल ही में कन्फ्यूजन, लॉस ऑफ स्मैल, व्यावहारिक परिवर्तन जैसे कुछ न्यूरोलॉजिकल लक्षण भी देखने को मिले हैं। COVID-19 की चपेट में आए हॉस्पिटल में एडमिट कुछ मरीजों की मानसिक स्थिति पर इसका बुरा प्रभाव पड़ा है।

स्ट्रोक, ब्रेन हेमरेज तथा मेमोरी लॉस जैसे कई भयंकर प्रभाव अब COVID-19 वायरस के मरीजों में देखे जा रहे हैं। जॉन्स होपकिंस यूनिवर्सिटी के एमडी रॉबर्ट स्टीवन्स कहते हैं, ‘कोरोना यूनिट में उन्होंने लगभग आधे मरीजों में न्यूरोलॉजिकल लक्षण देखे हैं। वैज्ञानिक फिलहाल ये समझने का प्रयास कर रहे हैं कि आखिर वायरस का दिमाग पर बुरा प्रभाव क्यों पड़ रहा है।’

रॉबर्ट स्टीवंस ने जॉन्स हॉपकिंस में छपे अपने एक आर्टिकल में उन एक्सपर्ट्स के सिद्धांतों को सूचीबद्ध किया है जो इस सबजेक्ट पर शोध कर रहे हैं। आर्टिकल के अनुसार, ‘पूरी दुनिया में COVID-19 के केसों में दिमाग से संबंधित तमाम हालातों को देखने को मिल सकती हैं। इनमें कन्फ्यूजन, होश खोना, दौरा पड़ना, स्ट्रोक, लॉस ऑफ स्मैल, लॉस ऑफ टेस्ट, सिरदर्द, फोकस ना कर पाना तथा व्यावहारिक परिवर्तन जैसी कई समस्यां सम्मिलित हैं।’ रिपोर्ट के अनुसार, COVID-19 के कुछ मरीजों में तो ‘कॉमन पेरिफेरल नर्व’ से संबंधित दिक्कतें भी देखी गई है, जो पैरालाइज तथा रेस्पिरेटरी फेलियर का कारण बन सकती है। तथा जरुरी है कि हम इन चीजों पर आवश्यक रूप से ध्यान दे।

Share
LATEST NEWS