टीकाकरण में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही

उत्तर प्रदेश के फर्रूखाबाद जिले में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही देखने को मिल रही है। जहा गांव की आशा लोगो को वैक्सीन का टीका लगवाने से मना कर रही है वही दूसरी ओर एएनएम की बड़ी लापरवाही से महिला को कोविड-19 का एक पर एक डबल डोज लगा दिए गए। .महिला ने वैक्सीन लगवाने आए और लोगों से जानकारी की। तब महिला ने कोबिड वैक्सीन का डबल डोज लगने की जानकारी लोगो को दी। . एएनएम की लापरवाही से महिला की जान पर भारी पड सकती थी।

 कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सरकार टीकाकरण पर जोर दे रही है. इसके बावजूद लोगों स्वत: सेंटर पर पहुंचने से कतरा रहे है। सबसे बड़ा कारण स्वस्थ विभाग की लापरवाह। मंगलवार से 18 वर्ष से 44 वर्ष तक के लोगों को टीका लगाया जा रहा है. इसके लिए युवाओं ने ऑनलाइन पंजीकरण में इस कदर उत्साह दिखाया कि पांच जून तक के लिए सभी सेंटर फुल हो गए हैं. जिले में  37 कोविड बूथों पर 552 लोगों ने पहली डोज लगवाई है.जब कि 264 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई. मंगलवार को 816 लोगो को वैक्सीन का टीका  लगाया गया।

  ब्लाक मोहम्मदाबाद क्षेत्र के मौधा गांव में एक अनोखा मामला देखने को मिला।  एक महिला ने आरोप लगाया. महिला ने बताया कोविड़-19 की पहली डोज लगवाने गए थे. उसने बताया कि मेरे दो डोज लगा दिए गए उसने बताया मैंने मना भी किया तो उन्होंने कुछ नहीं बोला वह बोली बैठो। नहीं नहीं बैठो हम बैठ गए फिर उन्होंने गोली दे दी फिर हमने अपनी चाची पूछा कि आपके कितने डोज लगे हैं उन्होंने बताया कि मेरे एक डोज लगा है. महिला ने चाची से पूछा कि तुम को गोली मिली की नहीं तो चाची बोली हमको गोली नहीं मिली.महिला ने बताया मेरे दो बार इंजेक्शन लगाया था मुझे उसने उठने भी नहीं दिया. महिला ने एनम पर आरोप लगाया। 

   दूसरा मामला ब्लाक मोहम्मदाबाद क्षेत्र के खिमसेपुर गांव का है कोरोना वैक्सीन के लिए लोगों को जागरूक करने की जरूरत है ग्रामीणों का कहना है कि वैक्सीन का टीका लगाने से मौत हो जाएगी जिसके बाद उनके बाल बच्चों को कौन पालेगा। स्वास्थ्य विभाग लोगों को नहीं समझा पा रहा  है कि टीका से कोई नुकसान नहीं है। बड़ी बात यह है की आशा द्वारा दुष्प्रचार किया जा रहा है की वैक्सीन लगाने से मौत हो जाती है |   टीकाकरण जैसे संवेदनशील मामले में भी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी घोर लापरवाही बरत रहे हैं इससे साफ जाहिर है कि सीएमओ डॉ वंदना सिंह का कर्मचारियों पर कोई अंकुश नहीं है।कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या घटकर 172 रह गई है कोरोना के 9 मरीज पाए गए।दो की मौत हुई है

Share
LATEST NEWS