दिसम्बर तक सभी निर्माण कार्यों को हरहाल में पूर्ण कराया जाए

जनपद के प्रभारी मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा की अध्यक्षता में विकास कार्यो व निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। जिसमे मंत्री नें अवश्यक निर्देश दिये| बैठक में प्रभारी मंत्री ने निर्देशित करते हुए कहा कि अवमुक्त धनराशि को खर्च कर व्यय धनराशि में लाना सुनिश्चित किया जाए। जिन कार्यों में धनराशि अवमुक्त हो चुकी उन कार्यों को तेजी के साथ कराया जाए। दिसम्बर तक सभी निर्माण कार्यों को हरहाल में पूर्ण कराया जाए। वन विभाग को वृक्षारोपण कार्य का भुगतान कर व्यय की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

प्रभारी मंत्री ने बैठक में कहा कि विधायक निधि व सांसद निधि के प्रस्तावों को किसी भी दशा में रोका न जाए, तेजी से कार्यों को कराया जाए। ​ऐसी परियोजनाए जिनमें पूर्ण धनराशि प्राप्त हो गई है उनके निर्माण कार्यों में तेजी लाए जाए और निर्माण कार्य में गुणवत्ता एवं मानकों का अवश्य ध्यान में रखा जाए। निर्माण कार्य शुरू होने पर शिलान्यास एवं कार्य पूर्ण होने पर लोकार्पण का कार्य जनप्रतिनिधियों के माध्यम से कराना सुनिश्चित किया जाए। विधायक निधि के लम्बित कार्यों को तेजी के साथ कराकर समाप्त कराने के निर्देश दिए। बैठक में मंत्री ने कहा अनावश्यक व्ययभार न बढ़ाया जाए। शासन की प्रथामिकता वाली योजनाओं,जनकल्याणकारी योजनाओं,विकास एवं शासन की महत्वकांक्षी योजनाओं के लिए ही बजट की मांग की जाए।
जिले के प्रभारी मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा नें राजेपुर व विकास खंड बढ़पुर में आयोजित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में हिस्सा लिया| राजेपुर में पीडी पर विधायक जमकर बसरे तो मंत्री नें भी नाराजगी व्यक्त कर योजनाओ को धरातल पर लानें के निर्देश दिये|

दोपहर बाद विकास खंड राजेपुर के परिसर में आयोजित कार्यक्रम में पंहुचे और उन्होंने पौधारोपण भी किया| इसके बाद उन्होंने स्वीकृत व प्रशस्ति पत्र वितरण कार्यक्रम में हिस्सा लिया| जहाँ उन्होंने शासन द्वारा संचालित संचालित विभिन्य योजनाओं के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र व कोरोना वैक्सीन लगवाने में सर्वाधिक योगदान देनें वाले प्रधानों को प्रशस्ति पत्रों का वितरण किया| व्यापार मंडल के अध्यक्ष संजय गुप्ता प्रधान प्रदीप गुप्ता ने मंत्री को 51 किलो की माला से मंत्री का स्वागत किया| इसके उपरांत प्रभारी मंत्री नें समीक्षा बैठक में हिस्सा लिया| जहाँ विधायक सुशील शाक्य नें बैठक शुरू होते पीडी डॉ० राजमणि वर्मा से कहा कि गाँव में आवास की शिकायतें आ रही है, यह सब प्रधान की मिलीभगत से भ्रष्टाचार हो रहा है| इसके बाद भी पीडी द्वारा कोई कार्यवाही नही की जा रही| आवास पात्रों को नहीमिल पा रहे| विधायक की नाराजगी पर मंत्री नें भी पीडी की तरफ आँखे लाल की| प्रभारी मंत्री नें कहा कि व्लाक परिसर में कार्यक्रम का उद्देश्य है कि सरकार की योजना का लाभ कागज पे ना होकर धरातल पर उतरे|

Share