बंदी की मौत के बाद भड़के साथी, जिला जेल में पथराव कर लगाई आग, जेलर पर हमला, सिपाही व एक कैदी घायल

फर्रुखाबाद की फतेहगढ़ जिला जेल में सुबह साढ़े आठ बजे बड़ा बवाल हो गया। बंदियों ने आगजनी के बाद पथराव किया जिसके बाद फायरिंग शुरू हो गयी। जब तक जेल अफसर पहुंचते बवाल इतना बढ़ गया कि वह अंदर नहीं घुस पाए। जिले से पुलिस और पीएसी बुला ली गयी और डीएम-एसपी मौके पर पहुंच गए, जिनके सामने भी बंदी छत पर चढ़ कर पथराव करते रहे। जेल के अंदर हंगामे के बाद बंदियों ने कई जगह आग लगा दी। सुरक्षाकर्मियों ने रोकने की कोशिश की तो पथराव शुरू कर दिया, इसके बाद गोलियां चलने की आवाजें आने लगीं। अधिकारियों के पहुंचने के बाद भी रुक-रुक कर फायरिंग होती रही, इस बीच पहुंची पुलिस और पीएसी ने जेल को घेर लिये लेकिन आला अफसर अंदर नहीं घुस पाए। 4 घंटे से जेल में बवाल जारी रहा। अफसर जेल के बाहर खड़े हैं और छत के ऊपर व अंदर से बंदी पथराव कर रहे थे। जेल को हाईजेक कर आगजनी कर दी|जेल के भीतर से धुंआ कई किलोमीटर दूर से देखा जा रहा था| जेल में आगजनी की सूचना पर अधिकारियों में हड़कंप मच गया| आलाधिकारी मौके पर आ गये|

 फतेहगढ़ जिला जेल में सुबह जेल खुलने के बाद से बंदी अचानक उग्र हो गये| देखते ही देखते बंदियों नें हंगामा किया और आगजनी कर दी| सूचना पर सीओ सिटी प्रदीप सिंह व फतेहगढ़ कोतवाल जयप्रकाश पाल कुछ सिपाहियों के साथ वहां पहुंचे। करीब 30 मिनट से लगातार अलार्म बज रहा है। बंदियों ने डिप्टी जेलर शैलेश कुमार सोनकर पर सुबह हमला कर दिया था। उनके साथ जमकर मारपीट की। पहले तो जेल प्रशासन भीतर ही भीतर खिचड़ी पकाता रहा जब हालात काबू में नही रहे तो आलाधिकारियों को सूचना दी| आग की सूचना पर दो दमकल की गाड़ीयां जेल गेट पर आ गयी| वहीं भारी पुलिस बल के साथ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा व जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह, नगर मजिस्ट्रेट भी मौके पर आ गये| लगभग सभी  थानों का फोर्स एसओजी टीम भी आ गयी| जेल के भीतर से फायरिंग की आवाजें आ रही थी| जेल के भीतर बबाल पनपा कैसे यह जाँच का विषय है|

फिलहाल सूत्रों की मानने तो जेल के भीतर पुलिस की पिटाई भी हो गयी है| पता चला है किसी बंदी की बीमारी से मौत के बाद कैदी भड़के है| अभी अधिकारिक पुष्टि कैदी के मरनें की नही हुई है| जेल में बबाल के दौरान हुए पथराव से थाना मऊदरवाजा का सिपाही जितेन्द्र कुमार घायल हो गया| उसे एम्बुलेंस से उपचार के लिए भेजा गया| जेल का बबाल पुलिस अधीक्षक अशोक मीणा ने बताया की जेल में पथराव के दौरान पुलिस के 30 सिपाही घायल हुए है। जेल की स्थिति पर काबू पाया गया |सरकारी संपत्ति को कैदियो ने भारी नुकशान पहुचाया। एसपी अशोक मीणा लाठीचार्ज को नकार रहे है जबकि मिडिया के कमरे में  कैद हुए जेल परिसर के अंदर जमकर लाठीचार्ज हुआ है।पूरी जेल की कई बैरिकों में कैदियो ने किया वबाल – एसपी डिप्टी जेलर पर हमले की एसपी ने की पुष्टि  डीएम संजय कुमार सिंह नही दे पाए कैमरों पर जबाब

Share