मठिया देवी मंदिर में 20 साल से जल रही है मां की अखंड ज्योति-देखे वीडियो

फर्रुखाबाद के प्राचीन मठिया देवी मंदिर में 20 साल से मां की अखंड ज्योति जल रही है। श्रद्घालु ज्योति के दर्शन कर मनौती मांगते हैं। मंदिरों में भारी भीड़ है. भक्तगण सुबह से ही मंदिरों में पहुंचकर मैया को मनाने में लगे हैं. शहर में मैया के जयकारे गूँज रहे हैं. नवरात्र अष्टमी पर दिन श्रद्धालुओं के नाम रहा।चैत्र नवरात्र में देवी मंदिरों में हवन कर माता का आहवान किया जाता ।

रेलवे रोड स्थित मठिया देवी मंदिर काफी पुराना है। नवरात्र में यहां मेला सा लगा रहता है। श्रद्धालुओं ने हवन में आहुति देकर कृतार्थ किया। नगर के प्राचीनतम मठिया देवी मंदिर पर पुरानी परंम्परा का निर्वहन करते हुये हवन का आयोजन किया गया। गौरतलब है कि सडक के बीचोबीच होने के कारण इस अंग्रेजों ने मंदिर हटाने का भरसक प्रयास किया था तो अंग्रेजों पर तरह तरह की विपत्तियां पडना शुरू हो गयीं थीं। जिसके बाद अंग्रेज इसे छोड कर चले गये थे। श्रद्धालुओं का कहना है कि यदि यहां हर रोज आकर माता की पूजा अर्चना की जाये तो उसकी मन की मुराद जरुर पूरी होती है।


मठिया देवी मंदिर में 20 साल से अखंड ज्योति जल रही है। पुजारी बताते हैं कि मंदिर के अंदर स्थापित मां मंगला माता मूर्ति के पास में ही बनी एक अलमारी में वर्ष 1999 में अखंड ज्योति जलाई गई थी। तब से यह अखंड ज्योति दिन-रात लगातार जल रही है। अखंड ज्योति जलाने में सभी भक्त सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अखंड ज्योति के दर्शन कर जो लोग मनौती मांगते हैं, उनकी मनोकामना अवश्य पूर्ण होती हैं। नवरात्र पर मंदिर में जल रही अखंड ज्योति के दर्शन को भीड़ उमड़ती है।

Share
LATEST NEWS
नागरिकता संशोधन बिल : लोकसभा से पास, आज राज्यसभा में हो सकता है पेश सिम और WhatsApp के जरिए चोरी हो सकता है आपका पैसा, इस तरह रहें सुरक्षित आग लगने पर ऐसे बरतें सावधानी, ये 10 टिप्स बचा सकते हैं कई ज़िंदगियां बस रोज़ाना एक ग्लास पीना है ये जूस, तेज़ी से कम होगा वज़न थाने में बंद पिता को खाना देने गए किशोर से कुकर्म की कोशिश, आरोपी पुलिसकर्मी निलंबित बहन की शादी का कर्ज चुकाने के लिए किडनी बेचने रिम्स पहुंचा युवक कानपुर देहात में 10वीं की छात्रा से स्कूल बस के अंदर रेप बर्थडे गिफ्ट नहीं मिला तो पति ने पेट्रोल डालकर पत्नी को फूंका UP TET 2019: प्रदेश के 1986 केंद्रों पर 22 दिसंबर को होगी टीईटी सहकारिता बैंक पर काबिज छोटे सिंह को लगा झटका, बोर्ड भंग,चार दशक से अधिक समय से जमाये थे कब्जा
WhatsApp CityHalchal