विसर्जन को जा रही मूर्ति के रास्ते में मांस फेंकने को लेकर हुआ बवाल

उत्तर प्रदेश के बस्ती के छावनी थाना क्षेत्र स्थित अमोढ़ा बाजार में विसर्जन को जा रही दुर्गा प्रतिमाओं के रास्ते में मांस फेंकने को लेकर बवाल हो गया। नाराज लोगों ने कुछ दुकानों के काउन्टर व तख्त को जला दिया। मौके पर एसडीएम, सीओ व बड़ी संख्या में फोर्स तैनात कर दी गई है। शहर में मौजूद सीपीएफएम को भी अमोढ़ा बाजार में लगा दिया गया है। 


छावनी क्षेत्र के देवखाल व आसपास की तीन दुर्गा प्रतिमाएं अमोढ़ा बाजार से गुजर रही थी, जिनका विसर्जन रामरेखा नदी में होना था। आयोजकों का आरोप है कि प्रतिमाओं के रास्ते में कई दुकड़े ताजा मांस का फेंका मिला। आयोजक मांस फेंकने वालों का नाम लेकर भी आरोप लगा रहे थे। प्रतिमाओं को वहीं पर रोक दिया गया।

जानकारी होने पर एसडीएम हर्रैया आशाराम वर्मा व सीओ हर्रैया मय फोर्स पहुंचे। एक बार लोगों को समझा बुझा कर आगे बढ़ाया, लेकिन कुछ लोगों ने तत्काल कार्रवाई की मांग को लेकर अड़ गए। मामला बिगड़ा तो कुछ लोगों ने वहां पर बने मांस के दुकानों के करीब एक दर्जन काउन्टर व दुकानों को तोड़ते हुए आग लगा दिया। 


आगजनी की सूचना जिले के आला अधिकारी अमोढ़ा के लिए रवाना हो गए हैं। मौके पर आरएएफ, पीएसी व भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। एसडीएम आशाराम वर्मा ने बताया कि स्थिति नियंत्रण में है। प्रकरण की जांच की रही है। यह घटना उस जगह पर हुई, जहां पर मुर्गा व मछली आदि की दुकान लगती है।

Share
LATEST NEWS
टिकटॉक से बड़ा ऐप बन गया स्वदेशी Mitron, 50 लाख से अधिक लोगों ने किया डाउनलोड 31 मई को खत्म हो रहा है लॉकडाउन 4.0, जून में मिल सकती है बड़ी राहत जिलाधिकारी ने कमालगंज काॅरेनटाइन सेंटर का किया औचक निरीक्षण किचन में जरुरतमंदों को गुणवत्तापूर्ण ताजा भोजन कराया जाए: जिलाधिकारी मुख्यमंत्री के आदेश पर गिरफ्तार किए गए काग्रेंस के प्रदेश अध्यक्ष को रिहा करने की मांग जब एकाएक अस्पताल में मरीजों का हाल जानने पहुंचे सीएम योगी....... पुलिस पर बिफरे हिंदू जागरण मंच कार्यकर्ता लॉकडाउन में किसानों को रुला रहा प्याज का भाव दिल्ली-NCR सहित पूरे उत्तर भारत में गर्मी और लू ढा रही कहर, तपिश ने तोड़ा 18 साल का रिकॉर्ड संदिग्ध परिस्थितियों में किशोर की मौत
फर्रुखाबाद में नए मरीज 1 डिस्चार्ज कोरोना मरीज 8 कोरोना ऐक्टिव संख्या - 18 जिले में टोटल संख्या मरीज 26