विश्व छत्रिय परिषद ने निकली नौ देवी की झांकी

असत्य पर सत्य की जीत का पर्व विजयदशमी यानी दशहरा को जिले में कई स्थानों पर बड़ी धूमधाम से मनाया गया नवरात्रि के नौ दिन पूरे होने के बाद दशमी तिथि को अयोध्या नरेश भगवान राम ने लंकाधिपति दशानन का वध कर अयोध्या वापस लौटे थे फतेहगढ़ की मोहल्ल नेकपुर स्थित संपन्न हुए कार्यक्रम में विश्व छत्रीय परिषद की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुलक्षणा सिंह व राष्ट्रीय महामंत्री डॉ एके सिंह ने इस कार्यक्रम को बड़ी धूमधाम से मनाया कार्यक्रम में नौ देवियों की झांकी के दर्शन कराए गए

भजन गीतों पर कुमारी सजना संध्या दीपा आकांक्षा गुड़िया मुस्कान अंजलि बच्चों सहित अध्यक्ष सुजाता राठौर ने नृत्य प्रस्तुत किया इस अवसर पर अध्यक्ष सुलक्षणा सिंह ने कहा कि दशहरा पर्व भगवान श्री राम के रावण पर लंका विजय का पर्व है जब रावण ने भगवान राम की पत्नी देवी सीता का अपहरण कर लंका ले गया था तब भगवान राम युद्ध की देवी मां दुर्गा के भक्त थे उन्होंने युद्ध के दौरान पहले नौ दिनों तक मां दुर्गा की पूजा की और दसवें दिन दुष्ट रावण का वध किया

इसीलिए विजयदशमी एक बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है राम की विजय के प्रतीक स्वरूप इस पर्व को सभी विजयदशमी के रूप में मनाते हैं भगवान श्री राम रावण कुंभकरण मेघनाथ तीनों बलशाली राक्षसों को मारकर पुष्पक विमान से माता सीता लक्ष्मण विभीषण अंगद जामवंत वानर राज सुग्रीव को साथ लेकर अयोध्या वापस आए थे सरिता भदौरिया ने कहा कि क्षत्रिय धर्म मे सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार दशहरा ही माना जाता है यह त्यौहार असत्य पर सत्य की जीत का त्यौहार है कार्यक्रम में आर्यन सिंह बबली राजपूत काजल खुशबू सहित तमाम लोग मौजूद रहे

Leave a Reply

Share
LATEST NEWS
WhatsApp CityHalchal