एडीजी ने शिकायतो पर की कार्यबाही ,थाना प्रभारी शमसाबाद पर बैठाई जाँच ,सिपाही अतुल गंगबार को किया लाइन हाजिर

फर्रुखाबाद दो दिवसीय दौरा करने पहुंचे एडीजी प्रेम प्रकाश रोड मार्च कर थाने का निरीक्षण किया ।आज एडीजी के सामने पुलिस के खिलाफ शिकायतकर्ताओं की लंबी कतार लग गयी ।बीजेपी विधायक ने एसओ जेपी शर्मा पर अबैध बसूली का आरोप लगाया । थाना प्रभारी शमसाबाद पर रेप के बाद हत्या की रिपोर्ट न दर्ज होने पर जाँच बैठाई और सिपाही अतुल गंगबार को लाइन हाजिर कर दिया ।

आज जब एडीजी प्रेम प्रकाश शिकायतकर्ताओं की शिकायत सुन रहे थे तभी युवती की हत्या करके ट्रेक पर फेंकनें के आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही करने की जगह पुलिस द्वारा उनकी पैरवी किये जाने का आरोप लगाया । यह सुन कर एडीजी भड़क गये। उन्होंने तत्काल मामले में हत्या व दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिये और सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया। आपको बताते चले बीते 14 अक्टूबर को थाना क्षेत्र के ग्राम किसरोली पट्टी निवासी शिवकुमार सक्सेना की 17 वर्षीय पुत्री आकांक्षा सक्सेना कोचिंग पढने गाँव के ही निकट गयी थी। लेकिन फिर लौट के घर नही आयी। परिजनों नें उसकी तलाश की। लेकिन उसका पता नही चला। सुबह उसका शव गाँव से ही तकरीबन डेढ़ किलोमीटर दूर रेलवे ट्रेक पर कटा हुआ नग्न अवस्था में पड़ा मिला था ।

पुलिस नें घटना के पांच दिन बाद भी मुकदमा दर्ज नही किया। खफा परिजन पुलिस लाइन फतेहगढ़ पंहुचे। उन्होंने एडीजी से भेट की। परिजनों से वार्ता के बाद अचानक एडीजी प्रेम प्रकाश का रुख सख्त हो गया। उन्होंने थानाध्यक्ष शमसाबाद रामबाबू को एसपी कार्यालय तलब किया। एडीजी नें थानाध्यक्ष की जमकर लताड़ लगा दी। थानाध्यक्ष को तत्काल हत्या और दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिये।मृतका आकांक्षा के पिता शिवकुमार और माँ विनीता देवी नें एसपी को बताया कि थाने का सिपाही अंकित गंगवार आरोपियों का सजातीय होंने के चलते उनकी पैरवी कर रहा है। जिस पर एडीजी नें तत्काल सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया।

तभी न्याय पाने गयी पीड़िता गंभीर रूप से घायल होनें के चलते पुलिस लाइन में ही चक्कर आने से गिर गयी। जिस पर पुलिस नें उसे जल्दी से पुलिस जीप में लादकर भेजने का प्रयास किया। लेकिन तभी एडीजी मौके पर आ गये। उन्होंने तत्काल मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए और मौके पर मौजूद सीओ की फटकार लगा दी।थाना कमालगंज क्षेत्र के ग्राम पेरी गढिया निवासी निवासी राकेश चन्द्र की पत्नी प्रतिमा गम्भीर अवस्था में परिजनों के साथ पुलिस लाइन पंहुची। उसी दौरान वह एसपी कार्यालय के निकट ही जमीन पर गिर गयी। यह देख सीओ सीटी मन्नी लाल गौड़ नें उसे पुलिस जिप्सी से वापस भेजने का प्रयास किया। लेकिन उसी दौरान एडीजी प्रेम प्रकाश, एसपी डॉ० अनिल कुमार मिश्रा व एएसपी त्रिभुवन सिंह मौके पर आ गये। पैसे लेकर पीड़ित को छोड़ने के आरोप में एडीजी नें इंस्पेक्टर को जमकर फटकारा लगाई । जिसके बाद उन्होंने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिये। वही प्रभारी निरीक्षक व अन्य दोषी पुलिस कर्मियों पर भी कार्यवाही की तलबार लटकी है।

थाना मेरापुर के ग्राम भैसरी निवासी पीड़ित कौशल किशोर मिश्रा भाजपा जिला उपाध्यक्ष डॉ० प्रभात अवस्थी के साथ पुलिस लाइन पंहुचे। पीड़ित नें एडीजी प्रेम प्रकाश से शिकायत कर कहा की वह बाइक से जा रहा था उसी दौरान बाबा सुरेश पुरी नें उसकी बाइक मांगी। मना करने पर उसने पिता के साथ मारपीट कर दी। सूचना पर थाना पुलिस मौके पर आ गयी। पुलिस नें कौशल और उसके पिता को ही पकड़ लिया। कौशल नें आरोप लगाया कि पुलिस नें उन्हें 80 हजार रूपये लेकर छोड़ा।

Share
LATEST NEWS
WhatsApp CityHalchal