डीएम ने बैठक कर दिये जारी किये दिशा निर्देश,चिंहित स्थानों पर ही आतिशबाजी की करें बिक्री : डीएम

कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी मोनिका रानी की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में विधायक भोजपुर ने सुझाव दिये कि जनपद में रिक्त पड़ी शासकीय भूमि पर चारागाह विकासित किया जाये, ताकि गौवंश की आपूर्ति हो व शासन का भी आर्थिक बोझ कम हो। वहीं आतिशबाजी के सुरक्षित भंडारण क्रय विक्रय पर चर्चा की गई। दो आतिशबाजी की दुकानों के मध्य ३ मीटर की दूरी होनी चाहिए। आतिशबाजी की दुकान के निकट पटाखे नहीं छुड़ाये जायेंगे। रात्रि १० बजे से प्रात: ६ बजे के माध्यम पटाखे नहीं छुड़ाये जायेंगे।

न्यायालय धार्मिक स्थल व प्रशासन द्वारा घोषित स्थानों के निकट पटाखे नहीं जलाये जायेंगे। अग्निशमन की पर्याप्त व्यवस्था पूर्व से ही रखनी होगी। रात्रि ६ बजे से १० बजे तक ही पटाखे चलाना है। आतिशबाजी का भंडारण अग्निरोधी सामग्री से निर्मित रोड में होना चाहिए, जहां अनचाहे व्यक्ति प्रवेश न कर सकें। बिक्री व भंडारण स्थल पर बालू, पानी, मिट्टी आदि अग्निरोधी तत्व रखे जाये ताकि आपात स्थिति में उपयोग किय जा सकें। आतिशबाजी के रोड आमने-सामने नहीं होंगे। एक समूह में पचास से अधिक दुकानें नहीं लगेंगी। समस्त नगर पालिकायें सतर्क दृष्टि रखेगी। आतिशबाजी रोड में तेल जलित दीपक न रहेंगे।

विद्युत तार फिक्स रहेंगे उनकी गुणवत्ता की जांच होगी। आतिशबाजी भंडारण व बिक्री स्थल आबादी क्षेत्र से दूर होने चाहिए। बिक्री की दुकान ९ वर्ग मीटर से कम व २६ वर्ग मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए। बिक्री स्थल मात्र भूमि तल पर ही हो सकती है व प्रवेश व निकास मार्ग स्वतंत्र होना चाहिए। किसी भी दशा में भंडारण तहखाने या ऊपरी तलों पर नहीं हो सकता। आतिशबाजी विक्रय स्थल ऐसी जगह पर हो, जहां अग्निशमन सुगमतापूर्वक किया जा सकें। विद्युत स्पार्क उत्पन्न कर सकने योग्य यंत्रों का उपयोग आतिशबाजी विक्रय स्थल पर नहीं किया जायेगा।

दुकान बनाने मे कपड़े का उपयोग नहीं होगा। दुकान व आबादी में ५० मीटर की न्यूनतम दूरी होनी चाहिए। दुकान में गैस, लैम्प का उपयोग नहीं किया जायेगा। आतिशबाजी का निर्माण आबादी क्षेत्र से न्यूनतम ४५ मीटर दूर होगा। बैठक में संबंधित पुलिस अधिकारी, प्रशासन अधिकारी, जिला सूचना अधिकारी राजन मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

Share
LATEST NEWS
WhatsApp CityHalchal