चिन्मयानंद केसः चश्मा बना एसआईटी की टेंशन, इन लोगों की हो सकती गिरफ्तारी

 चिन्मयानंद और छात्रा प्रकरण की जांच कर रही एसआईटी सबूत जुटाने में जुटी है। चश्मा बरामद नहीं होने पर एसआइटी के लिए टेंशन बन गई है। सोमवार को दिन में भाजपा के दो नेताओं समेत कई लोगों से पूछताछ की गई। रात में बैठक करके अगली रणनीति बनाई गई। सबूतों के आधार पर एसआईटी को रिपोर्ट बनाकर 8 नवंबर को हाईकोर्ट में जमा करनी है। मामले में अहम सबूत नहीं मिलना, छात्र या चिन्मयानंद की जमानत अर्जी पर असर डाल सकता है।आपको बता दें कि हाईकोर्ट में 8 नवंबर को चिन्मयानंद की जमानत अर्जी पर सुनवाई होगी। पिछले चार दिनों से एसआईटी अलग-अलग लोगों से पूछताछ करने में जुटी है।

सोमवार को पुलिस ने भाजपा के एक नेता और चिन्मयानंद से फिरौती मांगने के आरोपियों के रिश्तेदारों से पूछताछ की गई। उनके कुछ रिश्तेदारों पर गोपनीय नजर रखी जा रही है। सूत्रों के मुताबिक, सोमवार देर शाम पुलिस लाइंस स्थित अस्थायी दफ्तर में एसआईटी की बैठक हुई। इसमें अब तक मिले सबूतों, छात्रा के उस चश्मा और कैमरा की बरामदगी को लेकर चर्चा हुई, जिससे चिन्मयानंद का अश्लील वीडियो बनाया गया था। इस मामले को लेकर संदेह के घेरे में आए लोगों की गिरफ्तारी के बारे में भी विचार किया गया।वकीलों की हड़ताल की वजह से टल गई बहस
पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह का मोबाइल सोमवार को भी नहीं मिल पाया। ओम सिंह का मोबाइल एसआईटी ने जांच के दौरान कब्जे में ले लिया था। जिसे जांच में शामिल किया गया है। फोरेंसिक लैब से मोबाइल संबंधी रिपोर्ट मिल जाने के बाद ओम सिंह ने सीजेएम कोर्ट में मोबाइल वापसी को लेकर प्रार्थना पत्र दिया था।

4 नवंबर को इसी प्रार्थना पत्र पर बहस होनी थी लेकिन वकीलों की हड़ताल की वजह से बहस टल गई।भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व एमएलसी जयेश प्रसाद ने सोमवार को जिला जेल में बंद चिन्मयानंद से मुलाकात की। वह पूर्वाह्न 11रू30 बजे अपने दो समर्थकों के साथ जेल पहुंचे और चिन्मयानंद के पास करीब 15 मिनट तक रुके। उन्होंने चिन्मयानंद से उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछा और उनके खिलाफ दर्ज केस पर भी चर्चा की। चिन्मयानंद को एसआईटी ने एलएलएम की छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में 20 सितंबर को गिरफ्तार किया था। तभी से वह न्यायिक हिरासत में जिला कारागार में बंद हैं। उनकी जमानत यहां जिला एवं सत्र न्यायाधीश के कोर्ट से निरस्त हो जाने की वजह से जमानत का प्रार्थना पत्र इलाहाबाद हाईकोर्ट में दिया गया है जिस पर 8 नवंबर को बहस होनी है।

Leave a Reply

Share
LATEST NEWS
फोन के जरिये करोड़ों का चूना लगाने वाले दिल्ली के मोती नगर इलाके के फर्जी कॉल सेंटर का भाड़ा फोड़ बस और ट्रक के बीच भीषण टक्कर, 10 लोगों की मौत 10 जिलों के डीएम-एसपी से पराली जलाने की घटनाओं पर रिपोर्ट तलब शोहदों ने दो बहनों को जलाकर मारा, तीसरी की नहीं होने दे रहे शादी पटरियों पर फेंकी गई बोतलों का हो रहा गलत इस्तेमाल, जा सकती है आपकी जान एआरओ बरेली की ओर से सेना भर्ती रैली को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था संभाल ली बगैर टेक्नीशियन के चल रही है लोहिया अस्पताल की ओटी स्मृति दिवस पर कैंडेल मार्च, दी श्रद्धांजलि बूढ़ी गंगा के पुर्नजीवित को रुका काम फिर होगा चालू युवक की मौत पर परिजनों ने पोस्टमार्टम रुकवाया, हंगामा
WhatsApp CityHalchal