कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं गंगा में लगाई आस्था की डुबकी-video

कार्तिक पूर्णिमा पर विभिन्न घाटों पर सुदूर क्षेत्रों से आए लाखों महिला पुरुष श्रद्धालुओं ने गंगा के विभिन्न घाटों पर डुबकियां लगाई व पूजा-अर्चना की। इस दौरान बाजारों में भी भारी चहल पहल रही। इनमें महिलायें, बुजुर्ग और बच्चे बड़ी संख्या में शामिल रही| विभिन्न घाटों पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने हर-हर गंगे के गगन भेदी उद्घोषों के साथ मां गंगा में डुबकी लगाई। गंगा स्नान के बाद श्रद्धालुओं ने गंगा तट पर स्थित विभिन्न देवी देवताओं के मंदिरों में पूजन अर्चन कर अपने तीर्थ पुरोहितों को यथा शक्ति दान दिया।

पांचाल घाट पर तडके से ही बल्कि यह कहिये की मध्य रात्री से ही श्रधालुओ का आना शुरू हो गया था| पुलिस की चाक-चौबंद व्यवस्था भी की गयी थी| पूर्णिमा पर गंगा स्नान के लिए गंगाघाट जाने वाले श्रद्धालुओं की रेलवे स्टेशन व बस अड्डे पर खासी भीड़ रही। कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान करने के साथ दान आदि का विशेष महत्व है। कार्तिक पूर्णिमा पर लोग भारत की मुख्य और आध्यात्मिक नदी गंगा के पावन जल में स्नान कर शुद्ध व पवित्र होने और जाने अनजाने हुए अपकृत्यों को गंगा मां को समर्पित करने की कामना रखते हैं।

तमाम लोग पतित पावनी गंगा के किनारे धार्मिक कर्म कांड करवाने की महत्वाकांक्षा से जाते है तो तमाम ऐसे भी है जो घर में सम्पन्न पूजा गंगा के गहरे पानी से बचाने के लिए गंगा में बैरकेटिंग बनायी गयी है| इसके साथ ही घाटों की साफ़-सफाई भी की गयी है|एक टुकड़ी तैराक पीएसी, एक प्लाटून पीएसी के साथ ही 12 टोली रिक्रूटों की बनायी गयी है| जो पूर्णिमा के गंगा एस्नान पर अपनी नजर रखेंगे|

Share
LATEST NEWS
कार्डधारकों को राशन न देने पर दुकान निलंबित टेंपो से जान बचाने को कूदे युवक की करंट से मौत गंगा का जलस्तर चेतवानी बिंदु के करीब, पांच गांवों में घुसा पानी वीडीओ, स्वास्थ्य कर्मी और सिपाही निकले संक्रमित फर्रुखाबाद रहे चुके एसपी होंगे राष्ट्रपति पदक से सम्मानित,वर्तमान में है झांसी रेंज के IG, देश में सबसे अधिक कोरोना टेस्टिंग करने वाला राज्य बना उत्तर प्रदेश, बिजली चेकिग टीम ने 21 लोगों को बिजली चोरी करते पकड़ा पुलिस ने चोरी किये गये 20 मोबाइल सहित चोर को किया गिरफ्तार यूपी में कोरोना के 4537 नए मामले, बीते 24 घंटे में कोविड-19 से 50 लोगों की हुई मौत गंगा पहुंची चेतावनी बिंदु पास , खेतों में कटान से होने से गांव के लोग चिंतित